उत्तराखंड ब्रेकिंग:21 सितंबर से स्कूल खोलने के निर्दशों को शिक्षा मंत्री ने लिया वापस कहा बच्चों के जीवन से खिलवाड़ नही किया जा सकता

avatar

Reported by Awaaz Desk

On 15 Sep 2020
उत्तराखंड ब्रेकिंग:21 सितंबर से स्कूल खोलने के निर्दशों को शिक्षा मंत्री ने लिया वापस कहा बच्चों के जीवन से खिलवाड़ नही किया जा सकता

वैश्विक कोरोना महामारी के बाद बंद हुए स्कूलों को आंशिक तौर पर खोले जाने को लेकर केंद्र सरकार ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसेजर यानी SOP जारी की थी जिस पर उत्तराखंड शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान सामने आया है,उन्होंने एक वीडियो के माध्यम से कहा है कि बच्चे हमारा भविष्य है और जिस तरह देश मे कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे है हम बच्चों की ज़िंदगी के साथ खिलवाड़ नही कर सकते, इसीलिए 21 सितंबर को स्कूल खोलने के आदेशों को हम वापस लेते हैं।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने  21 सितंबर से कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्रों  के लिए सशर्त स्कूलों को खोले जाने की इजाजत दी थी। हालांकि केंद्र सरकार ने यह स्पष्ट किया था ये स्वैच्छिक होगा यानी छात्रों के ऊपर होगा कि वह स्कूल जाना चाहते हैं या नहीं।

स्कूलों को खोलने पर आवाज़24x7 ने भी कुछ अभिभावकों से राय ली थी जिसमे अभिभावकों की अलग अलग प्रतिक्रिया सामने आई,कुछ अभिभावकों का कहना था कि जिस तरह भारत मे कोरोना के मामले रिकॉर्ड तोड़ सामने आ रहे हैं उसे देखते हुए स्कूल फ़िलहाल नही खोलने चाहिए अगर सरकार स्कूल खोल रही है तो हम तो किसी भी हालत में अपने बच्चों को स्कूल नही भेजेंगे,बच्चों से बढ़कर कुछ नही है फिर चाहे तो स्कूल हमारे बच्चों का नाम ही क्यो काट दी हालांकि हमने स्कूल की फीस जमा की हुई है तो स्कूल भी नाम नही काट सकता,बच्चे ना तो सोशल डिस्टनसिंग बना सकते है ना मास्क ही ठीक से लगा पाएंगे,वहीं नाम न लिखने की शर्त पर एक महिला ने कहा था कि मेरा छोटा बेटा 12 में पड़ता है और पिछले कई महीनों से कोरोना की वजह से घर मे ही है ,घर पर वो पढ़ाई नही हो रही जो स्कूल में होती है इसीलिए स्कूल खुल जाए तो अच्छा है वैसे भी अनलॉक के बाद बच्चे तो बाहर निकल ही रहे हैं खेल भी रहे हैं तो क्यो न स्कूल में जाकर पढ़ाई भी कर लें, एक दिन तो कोरोना सभी को होना है इसके लिए खुद ही एहतियात रखनी होगी।

0 0