बिग ब्रेकिंग:कोरोना महामारी के खिलाफ उम्मीद का टीका बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट में लगी भीषण आग पांच की मौत कोविशिल्ड पूरी तरह सुरक्षित   |   उत्तराखंड:कुमाऊं विवि में संगीत का शोध छात्र चुरा रहा था महिला के अंडर गारमेंट्स परिजनों ने रंगे हाथों पकड़ा और जमकर की पिटाई   |   उत्तराखंड ब्रेकिंग:उत्तराखंड के इन गांवों में भाजपा नेताओं के आने पर लगा प्रतिबंध   |   नैनीताल ब्रेकिंग:15 फ़रवरी से पहले राशनकार्ड से आधार लिंक करवा लें नही तो राशन नही मिल पायेगा जल्दी कीजिये आख़िरी मौका है ये   |   उत्तराखंड सरकार ने कोविड की जाँच के लिए आरटीपीसीआर और रेपिड एंटीजन जांच की दरें घटाई   |   मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया प्रदेश के पहले बाल मित्र थाने का उद्घाटन, राजधानी के डालनवाला में बनाया गया है बाल मित्र थाना   |   देहरादून से हरिद्वार के सबसे बड़े फ्लाईओवर पर शुरू हुई वाहनों की आवाजाही, अब देहरादून से हरिद्वार 30 मिनट में कर सकेगें सफर   |  

कोरोना बिग ब्रेकिंग:भारत मे कोरोना वैक्सीन की पहली ट्रायल डोज के लिए आगे आये कैबिनेट मंत्री अनिल विज पूरे देश मे कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने वाले बने पहले मंत्री

avatar

Reported by Kanchan Verma

On 21 Nov 2020
कोरोना बिग ब्रेकिंग:भारत मे कोरोना वैक्सीन की पहली ट्रायल डोज के लिए आगे आये कैबिनेट मंत्री अनिल विज पूरे देश मे कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने वाले बने पहले मंत्री

कोरोना महामारी से पूरी दुनिया लड़ रही है पिछले कई महीनों से कोरोना की वैक्सीन के लिए दुनिया नज़रे बिछाए बैठी है भारत मे कोरोना वैक्सीन पर चल रहा प्रयास अपने अंतिम चरण में पहुंच चुका है और इसके लिए भारत के हरियाणा राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अपनी स्वेच्छा से कोरोना वैक्सीन के टीके की ट्रायल डोज खुद पर लगवाई है।अनिल विज पूरे देश मे पहले कैबिनेट मंत्री होंगे जिन्होंने अपनी इच्छा से कोरोना वैक्सीन के ट्रायल डोज के टेस्ट के लिए सामने आए और खुद पर परीक्षण करवाया।कोरोना वैक्सीन का टीका लगाने से पहले अनिल विज को निगरानी में रखा गया था।अगर अनिल विज पर किया गया ट्रायल सफल हुआ तो दिसंबर के बाद संभवतः भारत मे उपलब्ध हो जाएगा । इस वैक्सीन का विकास भारत बायोटेक ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साथ मिलकर किया है।

कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के लिए आगे आये कैबिनेट मंत्री अनिल विज के बारे में आइये विस्तार से जानते हैं ।


अनिल विज वर्तमान में हरियाणा के गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री दोनों पदों पर हैं,अनिल विज ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह कोवैक्सीन परीक्षण में वॉलंटियर के तौर पर खुद को डॉक्टरों की देखरेख में सबसे पहले टीका लगवाएंगे।अनिल विज ने 2019 में अंबाला कैंट से छठी बार विधान सभा सीट जीती है, वो साल 1970 से सक्रिय राजनीति कर रहे हैं,उन्होंने एबीवीपी की स्टूडेंट विंग से राजनीति शुरू की थी।1970 में, वह एबीवीपी के महासचिव बने थे,लेकिन फिर 1974 में भारतीय स्टेट बैंक में नौकरी ज्वाइन कर ली,लेकिन जब  1990 में सुषमा स्वराज राज्यसभा के लिए चुनी गईं तो अंबाला छावनी सीट खाली हो गई,तब विज ने सर्विस से इस्तीफा देकर बीजेपी से उपचुनाव लड़ा।



गौरतलब है क‍ि कोवैक्सिन के तीसरे चरण का ट्रायल हरियाणा के रोहतक से शुक्रवार हो गया है, मंत्री अनिल विज ने पहला टीका लगवाया है,देश में कुल 25 हजार 800 लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल होना है। पीजीआई रोहतक के वाइस चांसलर ने कहा था कि कोवैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल शुक्रवार से शुरू हो गया, पहले 200 वॉलियंटर्स को डोज दी जा रही है,अन‍िल व‍िज ने इसमें खुद ही अपना नाम द‍िया था,अब जब उन्हें पहली डोज दी जा चुुकी है, अब इसके 28 दिन बाद दूसरी डोज दी जाएगी।अनिल विज ने ख़ुद पर वैक्सीन का परीक्षण करवाया है, हालांकि वो कई बीमारियों से ग्रसित भी हैं और हाल ही में उनका ऑपरेशन भी हुआ था,ट्रायल से पहले उनके तमाम तरह के टेस्ट किए गए, अब आज उन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा और इसके रिजल्ट अब आने शुरू हो जाएंगे।भारत बायोटेक वैक्सीन का निर्माण इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर के साथ मिलकर कर रही है, देश में कुल 25 हजार 800 लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल होना है, पीजीआई रोहतक उन तीन सेंटर में से एक है जहां तीसरे फेज में 200 वॉलियंटर्स पर वैक्सीन का ट्रायल किया जाना है, इस दौरान उनमें एंटीबॉडी की स्थिति का अध्ययन किया जाएगा

0 0

Leave a Comment

Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 15 Jan 2021

पूरी के कलाकार शाश्वत रंजन साहू ने सेना के सम्मान में बनाया है अद्भुत टैंक
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 12 Jan 2021

अब अदालत द्वारा बनाई गई कमेटी पूरे विवाद को समझेगी और सुप्रीम कोर्ट को रिपोर्ट सौंपेगी
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 12 Jan 2021

अब इस मामले में बातचीत के लिए कमेटी का गठन किया जाएगा और कमेटी की अगुवाई सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड चीफ जस्टिस करेंगे