पौड़ी के थलीसैंण क्षेत्र में नियम- कानूनों को ताक पर रख कर किया जा रहा सड़क निर्माण।

avatar

Reported by Admin

On 6 Jan 2020
पौड़ी के थलीसैंण क्षेत्र में नियम- कानूनों को ताक पर रख कर किया जा रहा सड़क निर्माण।

भ्रष्टाचार की नींव आखिर कितनी खोखली होती हैं इसका अंदाजा पौड़ी जनपद के थैलीसैंण क्षेत्र में मझगांव से पोखरी जाने वाली पीएमजीएसवाई सड़क को देखकर लगाया जा सकता है, जहां गुणवत्ता को ताक पर रखकर सड़क का निर्माण करवाया जा रहा है सड़क पर बने पैराफिट इस बात की तस्दीक दे रहे हैं कि सड़क पर चलने वाले वाहन अगर अनियंत्रीत हो जाये तो सड़क पर बने पैराफिट इस हादसे को कैसे रोक सकेंगे पैराफिट का निर्माण सिर्फ डस्टफोग से करवाया जा रहा है जिसमे सीमेंट की मात्रा न के बराबर लगाई गई है यही कारण है की हाथ लगाने पर ही पैराफिट गुणवत्ता की सच्चाई उगल रहे हैं,जो कि बड़े हादसे को भी न्योता दे रहा है।बात सड़क की करें तो सड़क बने अभी एक माह ही बीता है, लेकिन सड़क अपनी खामिया दिखाने लगी है सड़क का निर्माण उत्तरप्रदेश का एक ठेकेदार करवा रहा है जिसने पीएमजीएसवाई के सभी नियमों को ताक पर रखकर पीएमजीएसवाई विभाग को भी ठेंगा दिखा डाला है।ग्रामीण सड़क निर्माण से नाखुश हैं, कई गांव की पेयजल लाइन भी सड़क निर्माण से क्षतिग्रस्त हुई है साथ ही पहाड़ों से बरसात में गिरने वाले बोल्डरों की रोकथाम के लिए न तो सुरक्षा दीवार बनाई गई है न ही पानी रिसाव के लिए नाली का निर्माण करवाया गया है ऐसे में ग्रामीण खासे परेशान नजर आ रहे हैं और ठेकेदार के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने की मांग शासन प्रशासन से कर रहे हैं।वहीं सड़क निर्माण में लगे मजदूरों का लाखो का भुगतान भी ठेकेदार ने नहीं किया है, जिससे सड़क निर्माण में लगे मजदूर भी परेशान हैं।

सड़क के इस भ्रष्टाचार को अब जिलाधिकारी के संज्ञान में लाये जाने के साथ ही प्रभारी जिला मंत्री व कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के समक्ष भी लाया गया है जिस पर जांच की बात कही गई है साथ ही जांच सही पाए जाने पर उचित कार्यवाही का भरोसा दिया गया है भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे ऐसे ठकेदारो पर उचित कार्यवाही कर शासन प्रशासन को  लगाम लगानी बेहत जरूरी है साथ ही जिला प्रशासन को दूरस्थ क्षेत्रो के कार्यो की मॉनिटरिंग भी करना बेहद जरूरी है ऐसा न हुवा तो भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे ऐसे ठेकेदार विकास कार्यो का इसी तरह से विनास करते रहेंगे।

0 0