ब्रेकिंग:भारत के 600 एनजीओ पर बैठेगी अब जांच घोटाले में हुआ खुलासा हर बच्चे के लिए विदेशों से आये 6 लाख लेकिन खर्च किये महज 60 हज़ार

avatar

Reported by Awaaz Desk

On 19 Nov 2020
ब्रेकिंग:भारत के 600 एनजीओ पर बैठेगी अब जांच घोटाले में हुआ खुलासा हर बच्चे के लिए विदेशों से आये 6 लाख लेकिन खर्च किये महज 60 हज़ार

भारत मे एनजीओ चलाना बेहद आसान है मौजूदा समय में भारत मे तकरीबन 600 सरकारी और गैर एनजीओ ऐसे है जिन्हें विदेशों से सालभर में भारीभरकम पैसे सिर्फ बच्चों की परवरिश के लिए ही मिलते हैं ,लेकिन आपको सुनकर ताज्जुब होगा कि 6 लाख में से ये एनजीओ बच्चों पर सिर्फ 60 हज़ार ही खर्च किये है बाकी पैसों का क्या हुआ अभी तक पता नही चल पाया है, ये बड़ा खुलासा राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने किया है।भारत के इन 600 एनजीओ के वित्तीय घोटाले को लेकर अब आगे भी जांच की  जाएगी।

एनसीपीसीआर के मुताबिक भारत के पांच राज्यो द्वारा संचालित 638 चाइल्ड केयर संस्थानो में रहने वाले 28 हज़ार बच्चों की देखरेख के लिए 2018-19 में विदेशों से औसतन 2 लाख 12 हज़ार से लेकर 6 लाख 60 हज़ार रुपये मिले,जिसमे से बच्चों 60 हज़ार भी बमुश्किल खर्च किये गए अब आयोग इन सभी एनजीओ के खिलाफ जांच कर कड़ी कार्यवाही करने का प्लान कर रहा है।गृह मंत्रालय के विदेशी योगदान विनिमयन अधिनियम की वेबसाइट पर आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, केरल,कर्नाटक, और तमिलनाडु के एनजीओ के 2018-19 के आंकड़े जुटाए जिनसे ये बड़ा खुलासा हुआ।बाल आयोग अध्यक्ष प्रिंयंक कानूनगो के मुताबिक बाल संरक्षण योजना के तहत हर बच्चे पर 60 हज़ार रुपये सालाना खर्च किया जाता है ऐसे में एनजीओ द्वारा बड़ी रकम इक्कठी की जा रही है देशभर के एनजीओ के लिए हम अभियान चलाएंगे और उसके मुताबिक जांच और कार्यवाही की जाएगी।

देश के जिन पांच राज्यो में ये बड़ा घोटाला सामने आया है उनके आंकड़े एक नज़र में देखिए।

तेलंगाना-यहाँ 67 चाइल्ड केयर संस्थानों को एनजीओ द्वारा चलाया जाता है जिनमे 3735 बच्चों के लिए 145 करोड़ रुपये दिए गए इस हिसाब से हर बच्चे के लिए सालाना 3.88 लाख रुपये आये।

आंध्रप्रदेश:यहां एनजीओ द्वारा संचालित 145 चाइल्ड केयर संस्थान है जहां 6202 बच्चों के लिए 409 करोड़ मिले प्रति बच्चे पर 6.6 लाख खर्च के लिए मिले।

केरल-यहां तकरीबन 107 संस्थानों को 4242 बच्चों के लिए 85.39 करोड़ मिले, प्रति बच्चे के हिसाब से सालाना 2.01 लाख रुपये आयी।

तमिलनाडु-यहां 247 संस्थानो को 1,1702 बच्चों के लिए 248 करोड़ रुपये मिले हर बच्चे के हिसाब से 2.12 लाख सालाना के हिसाब से ये रकम आंकी गयी।

कर्नाटक-यहां 45 संस्थानों को 3,111 बच्चों के लिए 66.62 लाख रुपये मिले प्रति बच्चे के हिसाब से इस रकम से 2.14 लाख रुपये सालाना मिले।

प्रति बच्चे के लिए जो रकम सालाना मिली उसका आधा भी खर्च नही किया गया।

0 0

Leave a Comment

Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 21 Jan 2021

बालिकाओं के सशक्तिकरण को देखते हुए महिला आयोग ने लिखा था मुख्य सचिव को पत्र
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 19 Jan 2021

ऋषभ पंत ने 3 विकेट के साथ 89 रनों की पारी खेलते हुए टीम को जीत दर्ज कराई
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 19 Jan 2021

संयुक्त राष्ट्र संघ में सूचीबद्ध सभी देशों के नाम एक मिनट 58 सेकेंड में बताने का बनाया रिकॉर्ड
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 19 Jan 2021

कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव भी तांडव पर गुस्साए बोले हमारी आस्था के साथ किया जा रहा है खिलवाड़
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 17 Jan 2021

हरिद्वार रुड़की विकास प्राधिकरण के ‘पेंट माई सिटी’ कैम्पेन से धर्म नगरी की फिजा ही बदल दी गई
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 17 Jan 2021

कैबिनेट ने उत्तराखंड पर्यटन पर आधारित 100 दिन के रियलिटी शो को भी मंजूरी दी
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 16 Jan 2021

उत्तराखंड की विपक्षी पार्टियों के नेताओं सहित आमजनमास भी कर रहा है मुख्यमंत्री की उपेक्षा
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 15 Jan 2021

स्थानीय लोगों व एनसीसी कैडेट्स द्वारा स्वर्णिम मशाल का जोरदार स्वागत किया गया
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 15 Jan 2021

एक साल में 309.57रू से घटकर 18रू पर पहुंची गैस की सब्सिडी