भाजपा नेता अपनी अजब प्यार की गज़ब प्रेम कथा को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में !

avatar

Reported by Tapas Vishwas

On 11 Aug 2020
भाजपा नेता अपनी अजब प्यार की गज़ब प्रेम कथा को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में !

कहावत है प्यार की कोई उम्र नहीं होती प्यार पूरी तरह से अंधा होता है । मगर अंधेपन का वो प्यार जो अपनों को खोकर पाया गया हो उस प्यार का कोई औचित्य नहीं होता । ऐसा ही एक मामला जनपद ऊधम सिंह नगर के महानगर रुद्रपुर में एक बार फिर चर्चाओं में हैं । 

चर्चा और किसी की नहीं बल्कि रुद्रपुर ट्रांजिट कैंप के निवासी अक्सर अपने नए नए संबंधों और नए संबंधों के चलते जानलेवा हमले के लिए चर्चाओं में रहने वाले वर्तमान भाजपा नेता किरण सरदार का है।

ऊधम सिंह नगर जिला मुख्यालय के महानगर रुद्रपुर में चर्चाओं और जानकारी के अनुसार किरण सरदार जो लगभग 55 की उम्र का है अपने मरहूम बेटे के साली जो कि काफी कम उम्र की है से शादी और संबंधों को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में आये है। यहां आपको बता दें यह वही किरण सरदार हैं जिन्होंने कुछ दिन पहले ही अपने मझले बेटे को भी खोया दिया था । मझले बेटे के दुनिया से जाने के महज 4 दिन बाद ही किरण सरदार एक बार फिर सोशल मीडिया में सुर्खियों में छाए हुए हैं। सोशल मीडिया, सोशल साइट पर किरण सरदार की एक फोटो जिसमें वो मरहूम बेटे के साली के साथ बड़े ही आशिकाना अंदाज़ में फोटो खिंचवाते हुए नजर आ रहे हैं।

आपको ज्ञात होगा कि कुछ दिन पूर्व इसी लड़की की वजह से उत्तर प्रदेश भूढ़िया पुलिस ने किरण सरदार को अपने हिरासत में लिया था। नवविवाहिता इस लड़की ने शादी के कुछ दिन बाद ही 55 की उम्र के किरण सरदार के प्यार में अपने पति को छोड़ दिया था और किरण के साथ ट्रांजिट कैंप आ गई थी। लड़की के पिता ने गुमशुदगी की तहरीर पर उत्तर प्रदेश भूड़िया पुलिस ने इस मामले में भाजपा नेता किरण सरदार के घर से लड़की को बरामद करते हुए उसको भी अपने हिरासत में लिया था। लेकिन बाद में किरण सरदार के पक्ष में लड़की के बयान की वजह से किरण सरदार वहां से बा-इज्जत बरी हो गए थे।  किरण सरदार पक्ष और लड़की के परिजनों के पक्ष में पंचायत के दौरान किरण सरदार ने इस लड़की को अपनी बिटिया बता कर उसको उच्च शिक्षा दिलाने की बात कही थी। पंचायत और समाज ने इस बात पर भी कई प्रश्न चिन्ह खड़े किए थे मगर किरण सरदार ने समाज में इस लड़की को अपनी बेटी का ओहदा देते हुए सारी गलत अफवाह पर लोगों का मुंह बंद किया था। उस वक्त ट्रांजिट कैंप के कुछ कांग्रेसी बड़े नेताओं ने बीच-बचाव कर मामले को पंचायत के माध्यम से रफा-दफा कर दिया था। मामले के कुछ दिन बाद ही किरण सरदार के मझले बेटे की भी मौत बड़े बेटे की तरह संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी। बेटे के दाह संस्कार के कुछ दिन बाद ही सोशल मीडिया पर किरण सरदार के अपने ही मरहूम बड़े बेटे की साली और पुत्री समान लड़की के साथ आशिकाना अंदाज में फोटो आने से किरण सरदार एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं।  

मिली जानकारी के अनुसार ऐसी बातों की चर्चाएं भी जोरों पर है कि बंगाली समाज के किसी धार्मिक और सांस्कृतिक कार्य में किरण सरदार को शामिल नहीं की जाएगा और ना ही किसी प्रकार का सहयोग लिया जाएगा। कई सारी अफवाहों के साथ एक बार फिर ऊधम सिंह नगर जनपद के मुख्यालय रुद्रपुर में किरण सरदार के व्यक्तिगत जीवन को लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं। कलयुगी इस बाप ने अपने दो बेटे को खो दिया है। बड़े और मझले पुत्र के संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद भी किरण सरदार ने सबक नहीं लिया है ।




0 0