उत्तराखंड कोरोना ब्रेकिंग- प्रदेश में 95.35 प्रतिशत हुआ रिकवरी रेट, 8 लोगों की हुई मौत, 171 लोग आए कोरोना पॉजिटिव, कुल आंकड़ा पहुँचा 338978   |   नैनीताल : कोरोना से साथी अधिवक्ता के निधन पर जिला बार ने शोक सभा कर दी श्रद्धांजलि   |   नैनीताल : खुद को स्वयं से जोड़ना सिखाता है योग कुविवि ने आयोजित किया योग पर वेबिनार   |   नैनीताल : 24 जून को पटवाडांगर में फ़िल्मसिटी के लिए चयनित भूमि का औद्योगिक विकास मंत्री गणेश जोशी करेंगे निरीक्षण   |   उत्तराखंड : आयुर्वेदिक डॉक्टरों को राज्य सरकार की बड़ी सौगात अब आयुर्वेदिक डॉक्टर भी लिख सकेंगे एलोपैथिक दवाइयां आईएमए को रास नही आयी ये सौगात तो दे डाली कोर्ट जाने की चेतावनी   |   बंग समाज व बंगाली युवा छात्र संगठन प्रतिनिधिमंडल ने की सीएम के साथ मुलाकात   |   रुद्रपुर : पोल शिफ्टिग में नियमों की अनदेखी करने पर भड़के लोग   |   रुद्रपुर : ट्रांजिट कैंप थाने में पैरोल पर छूटे अपराधियों की पुलिस ने करवाई परेड   |   ऊधम सिंह नगर में बदमाशों ने तमंचे के बल पर लूटी कार पीड़ित को सड़क किनारे फेंक हुए फरार   |   भारत : कोरोना को लेकर राहुल गांधी ने जारी किया श्वेतपत्र सरकार को दिए कई सुझाव साथ ही कोरोना की थर्ड वेव को लेकर चेताया भी   |   रुद्रपुर : अखिल भारतीय बंगाली एकता मंच के अध्यक्ष को मिली जान से मारने की धमकी   |  




विचारणीय प्रश्न: कैदियों को पेरोल पर रिहा करना हो सकता है खतरनाक बीते वर्ष पेरोल पर रिहा किए गए कई कैदी नहीं आए वापस

avatar

Reported by Awaaz Desk

On 16 May 2021
विचारणीय प्रश्न: कैदियों को पेरोल पर रिहा करना हो सकता है खतरनाक बीते वर्ष पेरोल पर रिहा किए गए कई कैदी नहीं आए वापस

कोरोना संक्रमण के चलते एहतियातन उत्तराखंड की जेलों में बंद 7 साल से कम सजायाफ्ता और विचाराधीन कैदियों को पैरोल पर रिहा करने का निर्णय एक बार फिर 17 मई को आ सकता है । इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश अनुसार हाई पावर कमिटी की बैठक 17 मई सोमवार 4 बजे निर्धारित की गई है. इस हाई पावर कमेटी द्वारा ही यह निर्णय लिया जा सकता है कि 7 साल से कम सजा वाले अंडर ट्रायल कितने कैदियों को पेरोल या जमानत दी जा सकती है।   

 कोर्ट के आदेश पर कुछ दिन पहले ही राज्य के अलग-अलग जिलों से 46 कैदियों को पेरोल पर रिहा किया जा चुका है । हालांकि, अभी और कितनी संख्या में कैदियों को रिहा किया जाएगा । इस मामले में बैठक के उपरांत ही कोई निर्णय लिया जा सकता है संक्रमण के खतरे को देखते हुए लगातार कोरोना टेस्टिंग और स्वास्थ्य के प्रति एहतियात के लिए सभी व्यवस्थाएं बनाई गई हैं,फिलहाल, किसी भी जेल में कोई गंभीर स्थिति नहीं है।

 

वही कैदियों को पेरोल पर रिहा करने से समाज में कई तरह के नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं जरूरी नहीं है कि गुनाह किया हुआ कैदी कुछ समय जेल में बिताने के बाद सज्जन हो गया हो एक बार गुनाह किया हुआ व्यक्ति दोबारा भी गुनाह कर सकता है और ऐसे में सजायाफ्ता कैदियों की ज़िम्मेदारी कौन लेगा ? क्योंकि पिछले साल भी 7 साल से कम अवधि के विचाराधीन कैदियों को मार्च 2020 में पेरोल पर छोड़ा गया था । लेकिन पेरोल खत्म होने के बाद उनमें से कई कैदी अभी तक फरार चल रहे हैं । पैरोल पर जाने वाले काफी कैदी संगठित अपराधिक गिरोह में शामिल हो चुके हैं, जिसके चलते समाज में इन कैदियों अपराधियों को लेकर भय का वातावरण बनता जा रहा है।

 

Leave a Comment

Kanchan Verma

Reported by Kanchan Verma

On 19 Jun 2021

पिछले कई दिनों से थे बीमार कुछ दिन पहले मिल्खा सिंह को हुआ था कोरोना
Kanchan Verma

Reported by Kanchan Verma

On 19 Jun 2021

सनसेट को नए और अलग अलग तरीकों से कृतिक ठाकुर करते हैं कैमरे में कैद
Kanchan Verma

Reported by Kanchan Verma

On 13 Jun 2021

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर दी जानकारी कहा पारदर्शिता जरूरी
Anuj Awasthi

Reported by Anuj Awasthi

On 7 Jun 2021

यूएसए की कंपनी मॉलिक्यूल एयर प्यूरीफायर ने कोरोना संकट से लड़ने के लिए हेल्पिंग केयर वेलफेयर फाउंडेशन से मिलाया हाथ
Awaaz Desk

Reported by Awaaz Desk

On 5 Jun 2021

पृथ्वी के पर्यावरण के प्रति सचेत एवं रचनात्मक रहने के लिए 5 जून का दिवस सुरक्षित रखा है