नैनीताल : वन विभाग के सहयोग से आशा फाउंडेशन ने बिड़ला स्कूल और बिड़ला मजार के आसपास भूस्खलन रोकने के लिए किया पौधरोपण

नैनीताल में आशा फाउंडेशन ने अपने मकसद की ओर कदम बढ़ाते हुए वनमहोत्सव की तरह वन विभाग के सहयोग से अपनी पूरी टीम के साथ मिलकर बिड़ला स्कूल के ऊपर पहाड़ी मजार के पास दूसरी बार 120 पेड़ लगाए। अध्यक्ष आशा शर्मा ने कहा कि वर्षा ऋतु का मौसम है और ऐसे में पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है वृक्ष लगाकर हमें पहाड़ों को इस खतरे से बचाना है,इसीलिए इस वर्षा ऋतु में लगभग 200 पौधे लगाने का लक्ष्य रखा था अब तक करीब 170 से अधिक पौधे अलग-अलग प्रजाति के लगाए गए है। उन्होंने आगे कहा कि हम सबको मिलकर भूस्खलन को रोकने के लिए पौधरोपण करने की दिशा में कदम उठाने चाहिए,ताकि हम पहाड़ बचा सके।आशा शर्मा ने डीएफओ रेंजर ,बिज्जू लाल,ममता जोशी,रेंजर प्रमोद तिवारी,और समस्त वन विभाग का आभार प्रकट किया और पर्यावरण को बचाने की इस मुहिम में सहयोग करने की सराहना भी की।नैनीताल के मशहूर पर्यावरणविद डॉ अजय रावत ने भी इस पहल पर बधाई दी और कहा कि जो वृक्ष लगाए गए है उनकी देखभाल आगे भी करनी होगी इसका ध्यान रखें। 


आपको बता दें कि आशा फाउंडेशन जनहित में कैंसर जागरूकता, महिला के स्वास्थ संबंधित, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, पर्यावरण बचाओ, जागरूकता अभियान पिछले कई वर्षों से चलाती रही है, कोरोना महामारी के दौरान भी आशा फाउंडेशन द्वारा निर्धन गरीब लोगों को राशन सामग्री बांटी गई है।कोरोना काल में गृहणी महिलाओं की मदद से पेंटिंग तैयार की हैं। जिनकी प्रदर्शन लगाने की तैयारी की जा रही है। इससे होने वाली आमदनी से कैंसर पीड़ितों की मदद की जाएगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा उन्होंने महिलाओं को जोड़कर हैंडमेड वस्तुएं तैयार करने की भी पहल की है। जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर भी बनेंगी। साथ ही कैंसर पीड़ितों की मदद भी हो सकेगी। आशा शर्मा ने बताया कि जो प्यार समाज से मिलता है उसे समाज सेवा में लगाना ही मेरा मक़सद है।


पर्यावरण संरक्षण अभियान में आशा शर्मा के बेटे सम्भव,निश्चल, नीलू एलहन्स,दीपिका,दीपक चौधरी,अभिनव गंगोला,किशन पालीवाल,भोलू,दीवान, रजत,मोनू,नन्दन,संतोष जोशी,मंजू जोशी,और समस्त बिड़ला स्टॉफ आदि शामिल रहे।