नैनीताल:एसडीएम प्रतीक जैन ने डीएम कार्यालय परिसर में सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को दिलाई संविधान दिवस की शपथ

संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन ने दिन शुक्रवार को संविधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों को संविधान की विस्तृत जानकारी देते हुये भारत के संविधान दिवस की शपथ दिलाई। 
एसडीएम प्रतीक जैन ने बताया कि भारत का संविधान, भारत का सर्वाेच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया है जबकि 26 जनवरी का दिन भारत में गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।  उन्होंने कहा कि  भीमराव आम्बेडकर को भारतीय संविधान का प्रधान वास्तुकार या निर्माता कहा जाता है। भारत के संविधान का मूल आधार भारत सरकार अधिनियम 1935  को माना जाता है। भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतान्त्रिक देश का सबसे लम्बा लिखित संविधान है। आज तारीख 26 नवम्बर, 1949 ई. (मिति मार्गशीर्ष शुक्ला सप्तमी, संवत् दो हजार छह विक्रमी) को एतद्द्वारा इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं। उन्होेंने कहा कि हम सभी को संविधान के नियमों का पालन करते अपने दायित्वों का निर्वाहन करना चाहिए। इसी क्रम में जनपद के सभी कार्यालयों में भारत के संविधान दिवस की शपथ ली गई। 
इस मौके पर मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बनारसी दास कुशवाह, मुन्नी रावत, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, गणेश चन्द्र, गौरव पाण्डे, हरीश चन्द्र, याचना बिष्ट के साथ अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।