डीजीपी अशोक कुमार के साथ ऊधम सिंह नगर के एसएसपी की अपील भी नहीं आई काम, ग्रेड पे को लेकर पुलिसकर्मियों के परिजनों का प्रदर्शन

प्रदेश में पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में की गई कटौती का मामला लगातार गरमा रहा हैं। पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत राजधानी देहरादून और जिलामुख्यालय रुद्रपुर में पुलिस कर्मियों के परिजनो ने रविवार को सरकार के खिलाफ धरना देते हुए पूर्व की भांति 4600 रुपये ग्रेड पे दिए जाने की मांग की। वही इस मामले में  रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल भी धरने को समर्थन देने के लिए धरना स्थल पर पहुंचे। वहीं रुद्रपुर धरना स्थल पर पर पुलिस और पीएसी तैनात पुलिसकर्मियों के परिजन धरने में मौजूद रहे। सीओ सिटी अमित कुमार ने धरना स्थल पर पहुंचकर धरने की वीडियोग्राफी करने समेत कई निर्देश दिए हैं।वही इस मामले में उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने पुलिस कर्मियों के परिजन से धरना न करने का अनुरोध कर चुके हैं।

दरअसल, कुछ समय पहले पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में भारी कटौती का आदेश मुख्यालय से जारी किया गया था। तभी से पुलिस कर्मियों के परिजन ग्रेड पे में कटौती का विरोध कर लगातार विभिन्न माध्यमों से प्रदर्शन कर रहे है। इस मामले में धरने की सूचना पर पहले ही डीजीपी अशोक कुमार ने पुलिस कर्मियों के परिजनों को फेसबुक तो एसएसपी डीएस कुंवर ने व्हाट्सएप के जरिये मैसेज भेजकर मनाने की कोशिश की। इधर, पुलिस कर्मियों के परिजनों ने एसडीएम को पत्र लिखकर धरने की अनुमति मांगी है।

जानकारी कहती हैं कि पुलिस कर्मियों को मनाने के लिए शनिवार देर शाम डीजीपी अशोक कुमार ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट करते हुए लिखा कि प्रिय साथियों प्रदेश पुलिस का मुखिया होने के नाते मैं आप लोगों की ग्रेड पे से संबंधित समस्या से भलीभांति वाकिफ हूं और सुलझाने के लिए सरकार एवं शासन की ओर से पूरा प्रयास किया जा रहा है। 27 तारीख को कैबिनेट सब कमेटी की मीटिंग है। ‘मुझे उम्मीद है कि आपकी समस्या का समाधान जरूर निकलेगा, इसलिए मेरा आपसे और आपके परिजनों से अनुरोध है कि कृपया करके कोई भी ऐसा कार्य न करें जिससे उत्तराखंड पुलिस जैसे अनुशासित बल पर लोगों को अनुशासनहीनता का आरोप लगाने का मौका मिले।’ मेरी आपसे अपील है कि किसी भी तरह के प्रस्तावित धरना या प्रदर्शन से बचें और संयम बनाकर रखें। इतना ही नहीं ऊधम सिंह नगर के एसएसपी डीएस कुंवर ने भी कहा है कि उच्चधिकारी इस मामले को लेकर शासन से वार्ता कर रहे हैं। आप लोग संयम रखें। लेकिन के बावजूद भी पुलिसकर्मियों के परिजनों ने उत्तराखंड के पुलिस मुखिया और ऊधम सिंह नगर के पुलिस मुखिया की एक नहीं सुनी और निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शहर के गांधी पार्क में सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए धरना दिया। जिस पर एसएसपी के आदेश पर सीओ सिटी अमित कुमार ने धरना स्थल पहुंचकर कार्यक्रम के वीडियो ग्राफी कराते हुए धरना दे रहे पुलिसकर्मियों के परिजनों को दिशा निर्देश दिए। वही सत्ताधारी विधायक राजकुमार ठुकराल ने भी पुलिसकर्मियों के परिजनों द्वारा दिए जा रहे धरने को अपना समर्थन दिया। 

ग्रेड पे की मांग को लेकर ध्ररने पर बैठी महिलाओं ने कहा कि पुलिस विभाग में 20 साल की सेवा देना के बाद 46 सौ ग्रेड पे दिया जाता है, बीते लंबे समय से उत्तराखंड में 20 साल की नौकरी पूरी कर चुके सिपाहियों को अभी भी 2800 ग्रेड पे दिया जा रहा है। जबकि सिपाही से ऊपर की सभी पोस्टों में 46 सौ ग्रेड पे लागू हो चुका है आक्रोषित महिलाओं ने आरोप भी लगाया कि शनिवार देर रात पुलिस अधिकारियों ने उन्हें फोन कर धरने पर नहीं आने के आदेश किए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस लाइन व पीएसी से पुलिस कर्मियों ने कई महिलाओं को धरने में पहुंचने नहीं दिया । इसके साथ ही पुलिस कर्मियों पर पुलिस लाइन व पीएसी गेट पर ताला लगाने का भी आरोप लगाया।